गुर्दे की पथरी, के लक्षण, कारण, और उपचार – Kidney Stone Ka ilaj

0
147

Gurde ki Pathri ka ilaj गुर्दे की पथरी, kidney Stone in Hindi गुर्दे की पथरी क्रिस्टल से बने ठोस द्रव्यमान हैं| गुर्दा रक्त के लिए फ़िल्टर की तरह काम करता है| हमारे रक्त में बहुत से गंदे पदारक पाए जाते हैं जिन्हें साफ़ करने का काम गुर्दे का होता है| वे गंदे पदारक मूत्र के रूप में हमारे शरीर से निकलते हैं | कई लोगों के मूत्र में केमीकल्स क्रिस्टॉलिज हो जाते हैं जिसकी वजह से उनके गुर्दे में पथरी बन जाती है| gurde ki pathri ka ilaj समय से करना अत्यंत आवश्यक होता है.

आमतौर पर ये गुर्दे में पाई जाती है| परन्तु यह मूत्रवाहिनी (Ureter ), मूत्रमार्ग (Urethra ) और मूत्राशय (Bladder ) में भी विकसित हो सकते हैं| शुरुआत में पथरी रेत के दाने जितनी छोटी होती है| अगर इसका इलाज समय से ना किया तो ये वक्त के अनुसार बढ़ती जाती है|

Gurde ki Pathri ka ilaj

जब पथरी गुर्दे में होती है तो गुर्दे में दर्द कभी – कभी ही होता है लेकिन जब पथरी विकसित होकर ureter में चली जाती है, तब गुर्दे को अपना काम करने के लिए बहुत ही दबाव लगाना पड़ता है जिसकी वजह से पथरी फूल जाती है| और इसकी वजह से गुर्दे में दर्द होने लगती है| लेकिन जब ये पथरी ब्लैडर में पहुँचती है तब दर्द से राहत मिल जाता है|

गुर्दे की पथरी के संकेत और लक्षण – Kidney Stone Symptoms in Hindi

गुर्दे की पथरी होने पर जल्दी लक्षण नहीं दिखाई पड़ते. पथरी के होने से पेशाब में परेशानी आने लगती है. ये लक्षण बहुत ही दर्दनाक होते हैं. जिनमें मुख्य निम्न हैं-

  • पेशाब में असामान्य गंध आना
  • बार बार पेशाब जाना
  • पेशाब में जलन और दर्द होना
  • बार बार पेशाब जाना, लेकिन एक बार में थोड़ा सा ही पेशाब आना
  • अगर आपको ज़्यादा पसीना आता है या उल्टी हो रही है तो ये गुर्दे में पथरी होने का संकेत हो सकता है |
  • जब गुर्दे में पथरी बनती है तो आपके मूत्र में रक्त आ सकता है |  हलाकि मूत्र में रक्त का निकलना और भी इन्फेक्शन्स की वजह से हो सकता है
  • अगर आपके गुर्दे में पथरी है तो आपको बुखार हो सकता है, ज़्यादा ठंड लगना भी इसी का संकेत है|
  • बेचैनी वाला दर्द होना

आमतौर पर दर्द थोड़ी देर में ठीक हो सकता हैं, ऐसे लक्षण देखने पर अगर व्यक्ति की हालत बिगड़ती जा रही है. तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएँ.

गुर्दे में पथरी होने के कारण – Kidney Stone Causes in hindi 

अधिकतर गुर्दे में पथरी होने का कारण है, मूत्र में ज्यादा मात्रा में कैल्शियम (कैल्शियम) होना| ज्यादा मात्रा में कैल्शियम होना बहुत ही जोखिम कारक है, जोकि पीढ़ी दर पीढ़ी हो सकता है |

  • आहार भी कभी – कभी पथरी के लिए एहम मुद्दा बन सकता है | अधिकतर लोगों में ग्रहणक्षमता कम होती है, जब वे ज़्यादा मात्रा में प्रोटीन्स (Proteins ) या नमक लेते हैं तो जोखिम बढ़ जाता है| लेकिन जो लोग ग्रहणक्षम होते हैं उन्हें पथरी का कोई जोखिम नहीं है|
  • जो लोग दवाइयां खातें हैं जिनमे ज़्यादा मात्रा में कैल्शियम होता है तो उसकी वजह से उनके मूत्र में कैल्शियम की मात्रा बढ़ जाती है जिसकी वजह से पथरी हो सकती है
  • अत्यधिक मोटापा
  • गेस्ट्रिक वाईपास सर्जरी भी एक बड़ा कारण हो सकता है.

गुर्दे की पथरी से बचाव

गुर्दे की पथरी का मुख्य बचाव ज्यादा से ज्यादा पानी पीना है.

  • रोज़ाना 2 से 3 लीटर पानी पीयें| ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ पीने से ( ज्यादातर पानी ) आपका मूत्र साफ़ आएगा और सारे विशारत पदार्थ मूत्र के द्वारा बाहर निकल जाएंगे |
  • ऐसे खाद्य पदार्थ ना खाएं जिनसे पथरी बनने का खतरा हो, जैसे चुकंदर, पालक, कोला, क्योकिं कोला में फास्फेट होता है जो पथरी के बनने में बढ़ावा देता है. ऐसे खाद्य पदार्थों से बचें या फिर ना की बराबर प्रयोग करें.
  • मीट, मुर्गा, अंडा, मछली आदि खाने से यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है जिससे पथरी बन सकती हैं. इसलिए इनका सेवन बंद कर दें.
  • सोडियम की मात्रा कम ले क्योकिं यह मूत्र में कैल्शियम की मात्रा अधिक करता है.

gurde ki pathri ka ilaj

गुर्दे की पथरी का परीक्षण – Diagnosis of Kidney Stone in Hindi

गुर्दे की पथरी के परीक्षण के कई तरीके है-

  • इमेजिंग परिक्षण 

आमतौर पर सबसे अधिक नैधानिक परिक्षण सिटी स्कैन के ज़रिये किया जाता है| सिटी स्कैन की मदद से हम पता लगा सकते हैं कि गुर्दे, उरेटर या ब्लैडर में पथरी है या नहीं| सिटी स्कैन की ज़रिये हम पता लगा सकते हैं की पथरी कितने आकार की है|

पर अगर गर्भवती स्त्री में निदान करना हो तो सिटी स्कैन हानिकारक हो सकता है| गर्भवती स्त्री के लिए अल्ट्रासाउंड के प्रयोग से पथरी को पता कर सकते हैं|

  • रक्त परिक्षण

रक्त परिक्षण के द्वारा हम पता लगा सकते हैं कि आपके रक्त मैं कैल्शियम की मात्रा ज्यादा है या कम | रक्त परीक्षण के परिणाम से ही आपके गुर्दे में पथरी होने और ना होने का और गुर्दा स्वस्थ्य है या नहीं का पता किया जा सकता है.

  • भौततिक परिक्षण

इसमें डॉक्टर्स आपके पेट को स्पर्श द्वारा मालुम करते हैं की कोई द्रव्यमान उपस्थित है या नहीं |

Gurde ki pathri ka ilaj – गुर्दे की पथरी का इलाज

Kidney Stone Treatment in Hindi

gurde ki pathri ka ilaj गुर्दे की पथरी के इलाज के लिए हम निम्न प्रकिर्या कर सकते हैं.

दवाएँ

अधिक दर्द होने पर दर्द से राहत पाने के लिए दवाई का इस्तेमाल करना पड़ता है |

  • इबुप्रोफेन (Ibuprofen )
  • अस्टमीनोफेन (Acetomenophen )
  • नेप्रोक्सेन सोडियम ( Naproxen Sodium  )

लिथोट्रिप्सी  ( Lithotripsy  )

कभी – कभी पथरी का आकार ज्यादा बड़ा होने के कारण पथरी आगे नहीं बढ़ पाती | तब उरोलोजिस्त ( Urologist ) सदमे की लहर चिकित्सा का उपयोग करते हैं  ( Shock Wave Therapy ) जिसकी मदद से पथरी को छोटे – छोटे भागों में तोड़ा जाता है और फर उन्हें ब्लैडर से के द्वारा निकला जाता है|

इन्हें भी जाने:

Gurde ki pathri ka ilaj, Gurde ki Pathri ke Lakshan आदि के बारे में आपको पता लग गया होगा. इस पोस्ट को आप शेयर जरुर करें. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here