Dengue ke Lakshan or ilaj – डेंगू कैसे फैलता है लक्षण और इलाज

0
223
dengue ke lakshan or ilaj

Dengue ke Lakshan or ilaj हर साल करोड़ों लोग डेंगू से पीड़ित होते हैं| भारत में हर साल डेंगू फीवर के कारण कई मृत्यु हो रही है| डेंगू मादा एडीज (Female Aedes) मच्छर के काटने से होता है| इस रोग को अगर सही समय में ठीक नहीं किया गया तो इस रोग से मृत्यु भी हो जाती है|

अगर कोई मनुष्य इस रोग से पीड़ित है तो उसमें 2 से 14 दिनों में लक्षण दिखाई देने लग जाते हैं| इसका पता चलते ही इसका इलाज करा लेना चाहिए| Dengue ke Lakshan or ilaj के बारे में हमें पता होना जरुरी है. अगर कोई डेंगू फीवर से पीड़ित है और उस वक्त यह मच्छर काट के उसका खून पिता है तो उस मच्छर में वह डेंगू वायरस वाला खून चला जाता है| और फिर अगर वो मच्छर किसी स्वस्थ व्यक्ति को काटता है तो उसमें भी वह डेंगू वायरस चला जाता है|

Dengue ke Lakshan or ilaj

एडीज यज्ञपति (Aedes aegypti) से बहुत से बिमारी होती है| सिर्फ मादा मच्छर ही रक्त के लिए काटती है क्युंकि उसे अपने अंडों को बढ़ाना होता है| ये मच्छर केमिकल्स (Chemicals) की तरफ आकर्षित होते हैं जो स्तनधारियों (Mammals) द्वारा फेंका जाता है जैसे की कार्बोंडिऑक्सीडे, अमोनिया, लैक्टिक एसिड (Lactic acid)| सबसे पहले ये मच्छर अफ्रीका में पाया गया था परन्तु अब ये पूरी दुनिया में फैल गया है|

एडीज एगयपती (Aedes aegypti) मच्छर की कुछ विशेषताएं

Dengue ke Lakshan or ilaj in Hindi

  •  इन मच्छरों के शरीर पर चीटी धारियां होती हैं|
  • इन्हें ज्यादातर ठंडी और छाँव दार जगह पर रहना बहुत पसंद होता है|
  • ये अँधेरी वाली जगह पर होते हैं|
  • ये मच्छर दिन के वक्त ज्यादा सक्रिय होते हैं|
  • ये मच्छर बाहर के गंदे गटर के पानी में प्रजनन (Breeding) नहीं करते, ये घर के अंदर रखे हुए शांत पानी में प्रजनन करते हैं|
  • ये मच्छर ज्यादा ऊंचाई तक उड़ नहीं सकते|

Dengue hone ke karan – डेंगू होने का कारण

डेंगू एक मादा मचार के काटने से होता है| डेंगू मच्छरों को पनपने से रोकने के लिए ये बातें ध्यान रखें-

  •  अगर आपके घर में कूलर है तो उसके पानी को हे 2 या 3 दिन में जरूर बदलें| ताकि मादा मच्छर उस पानी में ब्रीड न कर पाए|
  • घर में खाली बर्तनों को हमेशा उल्टा करके रखें|
  • मच्छर से बचने के लिए कोई क्रीम या फिर मच्छरदानी का उपयोग करें|
  • बरसात के समय घर के बाहर या छत पर अगर कोई टूटा हुआ मटका या बेकार टायर है तो उनमें बरसात का पानी इक्क्ठा न होने दें|
  • अगर आप किसी ऐसी जगह जा रहे हैं जहाँ बहुत सारे मच्छर है तो पूरे बाजू के कपड़े पहन कर जाए ताकि मच्छर आपको न काट पाए|

Dengue Ke Lakshan – डेंगू होने के लक्षण

  •  अगर कोई व्यक्ति डेंगू रोग से पीड़ित है तो उसके शरीर में बहुत ज्यादा कमजोरी होने लगती है और उसे चक्कर आते हैं|
  • डेंगू के बुखार के लक्षण आम बुखार से अलग होते हैं-
  • डेंगू शॉक सिंड्रोम (DSS) के मरीजों को साधारण बुखार होता है डेंगू हेमोरेजिक (Hemorhagic) में बुखार के साथ साथ बेचैनी भी होने लगती है|
  •  डेंगू हेमोरेजिक बुखार में शरीर में प्लेटलेट्स (Platelets) की कमी होनी लगती है जिसकी वजह से शरीर से खून बहने लगता है जैसे की नाक से, दांतो से या खून की उलटी हो सकती है|
  • डेंगू से पीड़ित व्यक्ति को बहुत तेज सर दर्द या जोड़ों में दर्द होने लगता है|

डेंगू का उपचार (Treatment of Dengue in Hindi)dengue ke lakshan or ilaj

Dengue ke Lakshan or ilaj

डेंगू मादा एडीज मच्छर के काटने से होता है| अगर हम इन मच्छरों को पनपने से रोकें तो डेंगू होने के चांस बहुत कम हो जाएंगे| इसके लिए हमारे आस पास वाली सारी जगह को साफ़ रखना होगा| कहीं पर भी गंदगी जमा नहीं होने देनी चाहिए|

  • साधारण डेंगू के बुखार का इलाज हम घर पर ही कर सकते हैं|
  • उस व्यक्ति को ज्यादा से ज्यादा पानी पिलाए और पानी पदार्थ वाली चीजें पिलाते रहें|
  • उस व्यक्ति को हर 6 घंटे में पैरासिटामोल (Paracetomol) दवाई दें|
  • बुखार ठीक होने पर प्लेटलेट्स काउंट टेस्ट जरूर कराएँ|
  • बच्चें बहुत कमजोर होते हैं| उन्हें कभी भी घर से बहार टी-शर्ट में या निक्कर में न भेजें|
  • अगर बचे को डेंगू होता है तो उसे हस्पताल में रख कर ही उसका इलाज करना चाहिए क्युंकि बच्चों में प्लेटलेट्स की मात्रा बहुत जल्द कम हो जाती है|

Dengue ka gharelu upchar – डेंगू के लिए घरेलू उपाय

1. बकरी का दूध – Dengue ke ilaj ke liye 

डेंगू जैसे रोग के लिए बकरी का दूध बहुत ही फायदेमंद है| बकरी का दूध पीने शरीर में प्लेटलेट्स की मात्रा तुरंत बढ़ने लगती है| बकरी का दूध पीने से जोड़ों के दर्द में भी आराम मिलता है| डेंगू रोगी को बकरी का कच्चा दूध थोड़ा थोड़ा करके पिलाए|

2. संतरे का जूस

संतरे में भरपूर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है| जो शरीर में पाचन शक्ति और इम्युनिटी को बढ़ाता है| डेंगू से पीड़ित व्यक्ति को जल्दी स्वस्थ करने के लिए संतरे का जूस पिलाना चाहिए|

3. पपीते की पत्ती

पपीते की पत्ती डेंगू के बुखार के लिए बहुत असरदार साबित हुआ है| इससे प्लेटलेट्स की मात्रा बढ़ती है और शरीर की पाचन शक्ति अछि होती है| इसलिए डेंगू के रोगी को पपीते की पत्ती का रस पिलाना चाहिए|पपीते की पट्टिका जूस निकाल कर डेंगू रोगी को पिलाएं|

4. तुलसी

तुलसी के इस्तेमाल से डेंगू रोगी को काफी आराम मिलता है| उनकी जोड़ों की दर्द ख़त्म होती है| तुलसी के पत्तों को पानी में उबालकर छान लें| और फिर तुलसी के पत्ते का पानी रोगी को पीला दें|

5. अनार

डेंगू के बुखार में रक्त की कमी को पूरा करने और प्लेटलेट्स की मात्रा को बढ़ाने के लिए अनार बहुत ही फायदेमंद है| डेंगू के रोगी को अनार का जूस निकाल कर पिलाएं|

dengue ke lakshan or ilaj के बारे में आप जान गए होंगे. डेंगू बहुत ही खतरनाक बिमारी है| इसलिए इसे रोकने के लिए हमें मच्छरों को रोकना होगा| अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगे तो इस पोस्ट को ज़रूर शेयर करें|

इन्हें भी जाने:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here